Maharashtra marriage certificate form pdf in hindi 2021

यदि आप महाराष्ट्र के निवासी है, और आपने हाल ही में विवाह किया है। तो आपको जल्द से जल्द विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना चाहिए। महाराष्ट्र सरकार महाराष्ट्र के सभी नागरिकों को विवाह प्रमाण पत्र उपलब्ध कराती है। अगर आपका विवाह हो चुका है, तो आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना होगा।

यहां हम आपके साथ Maharashtra Marriage Certificate Form Pdf In Hindi उपलब्ध कराने वाले हैं जिसे आप बहुत ही आसानी से प्राप्त कर सकते हैं और विवाह प्रमाणपत्र बनवा सकते हैं।

भारत में दो विवाह अधिनियम है पहला 1955 हिंदू विवाह अधिनियम विशेष रूप से महाराष्ट्र में लागू होता है।, और दूसरा 1954 विशेष विवाह अधिनियम भारत में लागू है। हिंदू विवाह अधिनियम के तहत महाराष्ट्र के हिंदू समुदाय को अपना विवाह होने के बाद 30 दिनों के अंदर विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना बेहद जरूरी है।

विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए हिंदू अधिनियम के तहत महिला की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए। और पुरुष उम्मीदवार की आयु 21 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।

विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के आपको बहुत सारे लाभ हो सकते हैं। विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त करके आप अपने विवाह को कानूनी मान्यता दे सकते है और अपनी शादी को कानूनी तौर पर दर्ज कर सकते हैं।

विवाह प्रमाणपत्र क्या होता हैं

मैरिज सर्टिफिकेट एक ऐसा सरकारी दस्तावेज होता है, जिसमें आप के विवाह के संबंधित जानकारी होती है। जैसे कि आप का विवाह किसके साथ हुआ है, कब हुआ हैं, किसके साथ हुआ है।  यह जानकारी कानूनी तौर पर दर्ज की जाती है।

मैरिज सर्टिफिकेट का उपयोग अपनी शादी को कानूनी तौर पर दर्ज कराने के लिए किया जाता हैं। महाराष्ट्र सरकार द्वारा जिन भी वर वधू का विवाह होता है, उन्हें कानूनी मान्यता दिलाने के लिए विवाह प्रमाण पत्र दिया जाता है। अगर आपका विवाह हुआ है, तो आपको विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना चाहिए। इसके लिए आप नीचे दिए गए Marriage Certificate Form Pdf In Hindi को डाऊनलोड कीजिए।

Download marriage certificate form

PDF Name:-marriage certificate form pdf
Pages:-1
PDF Size:-97KB
Language:-Marathi
PDF Category:-govt / Form
Source/Credit:-maharashtra.gov.in
Published:-9-9-2021
Download Now:-Click Here

विवाह प्रमाणपत्र बनाने के लाभ

अगर आप मैरिज सर्टिफिकेट बनवाते हैं तो आपको इसके बहुत सारे लाभ हो सकते हैं। सबसे पहला लाभ यह है कि आप आपके विवाह को कानूनी तौर पर दर्ज कर सकते हैं।

इससे आपको यह फायदा  है कि अगर भविष्य में आपके विवाह के संबंधित बाधाएं आती हैं। पति पत्नी में झगड़े होते हैं या तलाक करने की नौबत आती है, तो ऐसे में आप मैरिज सर्टिफिकेट का उपयोग अपनी मैरिज लाइफ की रक्षा करने के लिए कर सकते हैं।

अगर आप शादीशुदा है और आप विदेशों की यात्रा करना चाहते हैं, या आप हनीमून पर विदेश जाना चाहते हैं। तो आपको अपना पासपोर्ट बनवाने के लिए मैरिज सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है।

इसी प्रकार सरकारी दस्तावेज जैसे कि आधार कार्ड, पैन कार्ड, इलेक्शन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आपके पास मैरिज सर्टिफिकेट होना बेहद जरूरी है।

सिर्फ उन्हीं लोगों पर लागू होता है जिनकी शादी हो चुकी है और विशेष रूप से महिलाओं पर लागू होता है।

जैसा कि आपको पता ही होगा कि महिला का विवाह होने के बाद उसका सरनेम बदलकर उसके पति का सरनेम होता है। ऐसे में आधार कार्ड से अपना पुराना सरनेम चेंज करने के लिए आपको मैरिज सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है।

कई बार लोग पहली शादी होते हुए भी दूसरी शादी करते हैं और यह कानूनन अपराध है। आगर आपने विवाह प्रमाण पत्र बनवाया है।

अगर आपके साथ भविष्य में किसी भी प्रकार की घटना होती है, तो आप अपने विवाह के प्रमाण पत्र के जरिए अदालत से मदद मांग सकते हैं।

अगर आपके पति या पत्नी की मृत्यु हो जाती है तो उसके बाद आपको दूसरा विवाह करने के लिए विवाह प्रमाण पत्र होना जरूरी है।

विवाह प्रमाण पत्र बनवा कर आपके शादी को कानूनी तौर पर दर्ज कर सकते हैं।

पति के वसीयत पर पत्नी का भी उतना ही अधिकार होता है कितना सीसी का होता है। अगर किसी कारण व्यक्ति अपनी पत्नी को अपनी जायदाद से बेदखल करें मैरिज प्रमाण पत्र का सहारा लेकर कानूनी कार्रवाई कर सकती हैं।

marriage certificate बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

अब मैं आपको बताता हूं कि आपको मैरिज सर्टिफिकेट बनवाते समय कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता है।

महाराष्ट्र के सभी लोगों को जिनकी शादी हुई है उनको सर्टिफिकेट बनवाना चाहिए क्योंकि इससे आपको ही लाभ होगा।

  • विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए भारतीय नागरिक होना जरूरी है।
  • पति पत्नी का आधार कार्ड होना चाहिए।
  • सबसे महत्वपूर्ण पति पत्नी का जन्म प्रमाण पत्र और स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट होना जरूरी है।
  • और आपके पास रहिवासी प्रमाणपत्र होना चाहिए।
  • इसके साथ विवाह प्रमाण पत्र का फॉर्म और पति पत्नी पासपोर्ट साइज फोटोस होने चाहिए।
  • आपके विवाह का आमंत्रण कार्ड होना चाहिए और आपके विवाह में खींची गई तस्वीरें भी होनी चाहिए।

नया marriage certificate बनाने के लिए आवेदन कैसे करें

आप हमारी वेबसाइट पर गूगल की सहायता से मैरिज सर्टिफिकेट फॉर्म पीडीएफ सर्च करके आए हैं। इसका यह मतलब है, कि आप विवाह प्रमाण पत्र फॉर्म को डाउनलोड करके अपने नजदीकी नगर पालिका में या रजिस्ट्री कार्यालय में जाकर ऑफलाइन विवाह प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हैं।

ऑफलाइन विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए सबसे पहले आपके पास इस आर्टिकल में बताए गए सारे दस्तावेज की कॉपी होनी चाहिए।

इस आर्टिकल में बताए गए दस्तावेजों की कॉपी के साथ ही आर्टिकल में उपलब्ध कराए गए मैरिज सर्टिफिकेट फॉर्म को जोड़कर अपने नजदीकी रजिस्ट्री ऑफिस जाकर जमा कराने हैं।

बस यह कार्य करके आप बहुत ही आसानी से विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं।

मैरिज सर्टिफिकेट के लिए आवेदन करने के तरीके

अब हम आपको बताते हैं महाराष्ट्र के शादीशुदा लोग मैरिज प्रमाण पत्र कैसे बनवा सकते हैं। अलग राज्य के लिए अलग-अलग प्रक्रिया है। यहां आपको महाराष्ट्र राज्य की प्रक्रिया बताने वाला हूं।

महाराष्ट्र के लोगों के लिए विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए दो विकल्प उपलब्ध है। आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Method 1: offline

इस आर्टिकल में उपलब्ध कराए गए Maharashtra Marriage Certificate Form Pdf In Hindi को डाउनलोड करके फॉर्म में पूछी गई जानकारी को भरकर अपने नजदीकी रजिस्ट्री कार्यालय में जाकर विवाह प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं।

रजिस्ट्री कार्यालय से विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आपको ऊपर बताए गए दस्तावेज के जेरोक्स मैरिज सर्टिफिकेट फॉर्म के साथ जोड़ने है।

Method 2: online

आप बिना रजिस्ट्री कार्यालय जाए अपने घर से कंप्यूटर की सहायता से विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आप महाराष्ट्र सरकार की वेबसाइट पर जा कर ( aaplesarkar.mahaonline.gov.in ) ऑनलाइन विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन पत्र

FAQ: Frequently asked questions

क्या हम ऑफलाइन विवाह प्रमाणपत्र बनवा सकते हैं ?

जी हां आप बहुत ही आसानी से आपके नजदीकी रजिस्ट्री कार्यालय जाकर विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं।

विवाह प्रमाणपत्र बनाने के लिए योग्यता ?

विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए आपका भारतीय नागरिक होना चाहिए। और साथ ही महिला की आयु 18 वर्ष और पुरुष की आयु 21 वर्ष होनी चाहिए।

Marriage Certificate बनाने के लिए Online आवेदन कैसे करें ?

आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं। अगर आप महाराष्ट्र के निवासी हैं तो आप महाराष्ट्र सरकार की वेबसाइट पर जाकर मैरिज सर्टिफिकेट के लिए आवेदन कर सकते हैं।

विवाह प्रमाण पत्र बनाने के लिए कोनसे दस्तावेज आवश्यक है ?

आपके पास आधार कार्ड, स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट, रहिवासी प्रमाणपत्र, कास्ट सर्टिफिकेट और जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए।

निष्कर्ष

इस प्रकार आप बहुत ही आसानी से विवाह प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। अगर आप महाराष्ट्र के निवासी है, या किसी भी राज्य के निवासी हैं तो आपको आपकी शादी होने के बाद विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना चाहिए, क्योंकि विवाह प्रमाण पत्र बनवाकर आप आपकी शादी को कानूनी तौर पर दर्ज कर सकते हैं।

तो अभी आप ऊपर दिए गए लिंक से Maharashtra Marriage Certificate Form Pdf In Hindi को डाऊनलोड कीजिए।

तो अगर आप विवाह प्रमाण पत्र बनवा कर सरकारी लाभ को प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप जल्द से जल्द विवाह प्रमाण पत्र बनवा लीजिए। ऊपर विवाह प्रमाण पत्र बनवाने से जुड़ी सभी जानकारी आपके साथ साझा की है।

तो अगर आपको यह लेख महत्वपूर्ण और मददगार लगता है। तो इस लेख को कृपया अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें। ताकि आपके दोस्तों को भी पता चल सके कि शादी के बाद विवाह प्रमाण पत्र बनवाना कितना जरूरी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *